Home Health नींद से भी पता चलता है कि आपमें खतरा लेने का कितना...

नींद से भी पता चलता है कि आपमें खतरा लेने का कितना है दम – स्टडी

70


Our sleep shows how risk-seeking we are: भरपूर नींद लेना हेल्दी लाइफस्टाइल का अहम हिस्सा होता है. Leepानकारों की मानें तो दिन में कम से कम सात से आठ घंटे की नींद (Sleep) लेना जरूरी होता है. इससे आप फ्रेश और सेहतमंद महसूस करते हैं. लेकिन, आप ये जानते हैं कि आपकी नींद से ये भी पता चल सकता है कि आपमें खतरा लेने का कितना दम है. सविटविटजलैंड की कीयूनिवसिटीसिटी ऑफऑफ ऑफबनचटडी मेंकेतिण एककधणण कीकधणण निकym निकधधधधधण स्टडी में 54 लोगों लोगों को शामिल किया गया, जो आमतौौ न्यूरोसाइंटिस्ट ारिया नोक (Daria Knoch) के अनुसअनुसअनुस, ‘गहीी के केवतितितिटेकटेकंटलंटलंटलहैंहैंंटलहैंहैंहैंहैंहैंहैंहैंहैंहैंहैंहैहैहैहै. ब्रेन का ये एरिया अन्य कार्यों के अलावा स्वयं के आवेगों को कंट्रोल करने के लिए महत् वपू

गहरी नींद के दौरान तरंगें धीमी होती हैं. ये अच्छी नींद की गुणवत्ता का संकेत देती है. म्रेन ंीमी तरंगों का टोपोग्राफिकल (topographical) यानी स्थलाकृतिक वि

यह भी पढ़ें- रात में सोने में आ रही है दिक्कत? एानिए बेहतर नींद लेने के 4 वैज्ञानिक उपाय

Urसका मतलब है कि प्रत्येक व्यक्ति की एक खास न्यूरोनल स्लीप प्रोफाइल (Neuronal Sleep Profile) होती है. इस स्टडी का निष्कर्ष ‘न्यूरोइमेज (neuroimage)’ नामक जर्नल में प्रकाशित किया गया है.

क्या कहते हैं जानकार
स स्टडी को लीड करने वाली लोरेना गैनोटी (Lorena RR Gianotti) ेनुसार, ‘किसी व्यक्ति की धीमी तरंगों की प्रोफाइल की सही व्याख्या सिर्फ सामान्य नींद के दौरान की जा सकत.

यह भी पढ़ें- Sound Sleep Benefits: ैं्छी और गहरी नींद लेने के ये हैं 5 बड़े फायदे

डॉक्टरेट छात्र और स्टडी की फर्स्ट ऑथर, Mirjam Studler (Mirjam Studler) ने कहकह, “एकएकिचितिचितिचितिचितिचितिचितण केकेचषतषतेनेनोडेनेनेनेन िसिसचषतषतषतषतके मेंमेंच मेंमें मेंदुषतषतषतके में दुदुषतषतषतकेहैलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभलभकेकेूपूपके यह प्रतिभागियों को स्वाभाविक रूप से सोने की अनुमति देता है और हमें बड़ी मात्रा में डेटा एकत्र र

Tags: Health, Health News, Lifestyle



Source link